भारत के प्रमुख त्यौहार । विवरण । Major Festivals of India

भारत पूरी दुनियाँ में एक ऐसा देश है जहा पर विभिन्न धर्म के लोग रहते है और तरह – तरह त्यौहार मनाये जाते है । भारत देश में हर धर्म के लोग अपनी रीति रिवाजो के अनुसार अपने त्योहारों को धूम – धाम से मनाते है । हमारा भारत देश की सबसे अलग और पुरानी संस्कृति की वजह से पहचाना जाता है ।

भारत देश में मनाये जाने वाले सभी प्रमुख त्यौहार अपनी – अपनी संस्कृति और सभ्यता को दर्शाते है । ये जो प्रमुख त्यौहार भारत देश में मनाये जाते है वह उनके पौराणिक कथाओ और लोक कलाओ से जुडी हुई होती है । कई ऐसे त्यौहार होते है जो कई महान व्यक्तियों की जयंती और उनके पूण्यतिथि पर भी मनाया जाता है ।

यहाँ पर जो भी त्यौहार मनाया जाता है, उसमे से कुछ त्यौहार मौसम के अनुसार मनाया जाता है । जो मौसम से सम्बंधित होते है । वैसे भी भारत देश में हर दिन किसी न किसी स्थान पर कोई न कोई त्यौहार का जश्न मनाया जाता है । भारत देश के त्यौहार ही उसके विशेषता को बताता है ।

यहाँ पर त्योहारों का के लिए इतना जूनून है की लोग हर अपने संस्कृति त्यौहार का बेसब्री से इंतजार करते है । और वह त्योहारों के दिन खुशियाँ व हर्षोल्लास के साथ मनाते है । भारत के कुछ प्रमुख त्यौहार है जो निम्नलिखित निचे दिए है ।

यह मकर संक्रांति का त्यौहार हर वर्ष जनवरी महीने के 14 या 15 तारीख को बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है । इस त्यौहार को भारत के हर राज्य में मनाया जाता है मगर गुजरात और उत्तर प्रदेश में ज्यादे उत्साह के रूप में मनाया जाता है । इस खिचड़ी के नाम से भी जाना जाता है, इस दिन लोग सुबह – सुबह गंगा स्नान करते है और सूर्य एक राशि से दुसरे राशि में प्रवेश करता है । इस खुबसूरत त्यौहार के दिन लोग पतंग उत्सव भी मनाते है खासकर गुजरात जैसे राज्य में ।

  • बसंत पंचमी (Basant Panchami)

ये त्यौहार फरवरी महीने के शुरुवाती दौर में आता है । ये हिन्दू कैलेंडर के अनुसार यह माघ महीने के शुल्क पक्ष के पंचमी तिथि के दिन मनाया जाता है । यह विद्यार्थीयो के लिए खास होता है क्योकि इस दिन सरस्वती माँ की पूजा होती है जिन्हें ज्ञान और बुद्धि की देवी कहा जाता है । इसलिए ये पर्व स्कूलों और कॉलेजों में आदर सत्कार के साथ मनाया जाता है । इस त्यौहार को साल का पहला त्यौहार भी कहा जाता है ।

  • महाशिवरात्रि (Maha Shivratri)

महाशिवरात्रि का त्यौहार हिन्दू धर्म द्वारा बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है । ये त्यौहार हिन्दू कैलेंडर के अनुसार फाल्गुन महीने (यानि की मार्च महिना) के कृष्ण पक्ष के त्रयोदशी की दिन मनाया जाता है । इस दिन भगवान शिव की पूजा की जाती है । इस दिन सभी वर्ग के आयु वाले भगवान शिव को जल चढाते है और इस दिन लोग उपवास भी रखते है ।

यह होली का त्यौहार रंग-विरंगो का त्यौहार है । इस दिन लोग खुशीयों के साथ एक – दुसरे से गले लगते है । इस दिन लोग एक – दुसरे को प्यार से अबीर व गुलाल लगाते है । यह भारत देश का एक महत्वपूर्ण त्यौहार है । यह हर वर्ष फाल्गुन महीने यानि मार्च में मनाया जाने वाला एक प्रमुख त्यौहार है । भारत देश में कई प्रचलित कथाये प्रसिद्ध है जैसे होलिका दहन, ब्रज का होली, लठमार होली इत्यादि । इस दिन कई लोग मदिरा पान भी करते है ।

  • रामनवमी (Ramnavmi)

यह त्यौहार अप्रैल या मई के महीने में आता है । हिन्दू धर्म के अनुसार ये त्यौहार चैत्र माह के शुक्ल पक्ष के नवमी के दिन मनाया जाता है । हिन्दू धर्म ग्रंथ के अनुसार ये माना जाता है की उस दिन भगवान राम का जन्म हुआ और वो राम विष्णु जी का सातवाँ अवतार माना जाता है ।

  • बैसाखी (Baisakhi)

ये जो बैसाखी का त्यौहार है, इसे सिख धर्म के लोग बड़े उत्साह से मनाते है । यह त्यौहार बैसाख के महीने में यानि की अप्रैल में मनाया जाता है । इस दिन लोग पारंपरिक तरीके से लोग रंगीन कपडे पहनकर लोकनृत्य के साथ गिद्दा व भांगड़ा किया करते है ।

इस बैसाखी के दिन ही भारत के असम राज्य में बिहू पर्व का भी उत्सव मनाया जाता है । कहा जाता ही की जब सूर्य मेष प्रवेश करता है तब ये त्यौहार मनाया जाता है ।

यह त्यौहार मुस्लिम समाज के लोग बड़ी धूमधाम से मनाते है । ईद त्यौहार उनके लिए सबसे महत्वपूर्ण त्यौहार होता है, क्योकि ये मुस्लिम समुदाय के लोगो के लिए साल में एक बार आने वाला त्यौहार है । जब भी ईद का पर्व आने वाला होता है उसके पहले 1 महीने का रमजान का महिना रहता है, जिसके वजह से मुस्लिम भाई लोग 1 माह का रोजा ब्रत रखते है । और फिर ये ब्रत ईद के चाँद दिखने के बाद ही खत्म होता है । यह रमजान का महिना मुस्लिम समुदाय के लोग के लिए सुख- शांति से बीतता है ।

रक्षाबंधन हिन्दू धर्म का प्रमुख त्यौहार है । यह त्यौहार मुख्य रूप से भाई – बहन के रिश्ते को दर्शाता है । यह हर साल श्रावण माह के पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है, ऐसे में यह अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार अगस्त महीने में आता है । इस पर्व के दिन बहन अपने भाई के कलाई पर रक्षासूत्र (यानि राखी) बाधित है, उनसे अपनी रक्षा करने की कल्पना करती है ।

यह त्यौहार भाद्रपद के महीने में आने वाला एक महत्वपूर्ण पर्व है, जो हिन्दू धर्म के लोग बड़ी उत्साह के साथ मनाते है । यह हर साल भाद्रपद के महीने के कृष्ण पक्ष के अष्टमी तिथि को मनाया जाता है । हिन्दू ग्रंथो के अनुसार इस दिन भगवान श्री कृष्ण का जन्म रात्रि के 12 बजे हुआ था । इसी कारणवश लोग इस दिन बहुत उत्साह व हर्षोल्लास के साथ मनाते है । इसके ठीक दुसरे दिन लोग दहीहांड़ी का भी कार्यक्रम रखते है खासकर के मुंबई में ।

गणेश चतुर्थी हिन्दुओ का प्रमुख त्योहारों में से एक है । इस त्यौहार पर लोग भगवान गणेश (यानि गणपति बप्पा) की पूजा करते है । यह त्यौहार लगभग 11 दिनों तक चलता है, इस दौरान लोग बड़ी श्रधा से रोजाना आरती व पूजा करते है । इस त्यौहार को भगवान गणेश के जन्मोत्सव पर मनाया जाता है । इस त्यौहार का सबसे ज्यादा मान्य मुंबई (महाराष्ट्र) में होता है ।

यह नवरात्रि हिन्दू धर्म का पावन त्यौहार होता है । जो एक साल में दो बार इसको अलग – अलग संस्कृति और परंपरा के अनुसार मनाया जाता है । पहला नवरात्रि का त्यौहार चैत्र के महीने (अप्रैल) में मनाया जाता है जिसको रामनवमी भी कहा जाता है, और दूसरा नवरात्रि अश्विन के महीने (सितम्बर / अक्टूबर) में मनाया जाता है, जिसको लोग माँ दुर्गा के नव अवतारों की पूजा करते है । जो अलग – अलग नामो से दुर्गा माँ को जाना जाता है । इस त्यौहार में कुंवारी कन्या का पुजन बहुत ही विशेष होता है ।

ये त्यौहार तुरन्त नवरात्रि बाद ही दशहरा आता है, क्योकि नवरात्रि के नौ दिन बाद दसवे दिन को दशहरा के रूप में हिन्दू धर्म द्वारा मनाया जाता है । इस त्यौहार को मुख्य रूप से बुराई पर अच्छाई की जीत पर आधारित है । कहा जाता है जब राम जी ने राक्षस रूपी रावण पर विजय प्राप्त की, तब से उस दिन को लोग बुराई पर अच्छाई का प्रतिक मान कर धूम धाम से इस त्यौहार को हिन्दू धर्म के लोग मनाते है । हिन्दू पंचांग के अनुसार यह दशहरा अश्विन माह के शुक्ल पक्ष के दशमी तिथि को मनाते है ।

यह त्यौहार हिन्दू धर्म के अनुसार विशेष रूप से शादीशुदा स्त्रियों के लिए माना जाता है । क्योकि इस पर्व पर सुहागन स्त्रियाँ अपने पति के लम्बे उम्र व सुहागन रहने लिए इस दिन निर्जला ब्रत रहकर इसकी कामना करती है । ये त्यौहार हिन्दू पंचांग के अनुसार कार्तिक महीने (अक्टूबर/नवम्बर) में कृष्ण पक्ष के चतुर्थी के दिन मनाया जाता है ।

इस त्यौहार को लोग दिवाली ठीक एक दिन पहले मनाते है । इस पर्व पर लोग कोई न कोई नए वस्तु खरीदते है जैसे बर्तन, गहना इत्यादि सब । यह त्यौहार हिन्दू पंचांग के अनुसार कार्तिक महीने के कृष्ण पक्ष के 13वे दिन (त्रयोदशी) के दिन मनाया जाता है । इस पर्व पर भगवान धन्वंतरि की पूजा किया जाता है । इस दिन लोग रंगोली भी बनाते है जिससे उनके घर की सुन्दरता बढती है ।

दिवाली हिन्दू धर्म का एक प्रमुख त्यौहार है । इस पर्व को लोग बड़ी उत्साह व धूमधाम से मनाते है । कहा जाता है की इस दिन भगवान श्री रामचंद्र अपना 14 वर्ष वनवास पूरा करके व रावण पर विजय प्राप्त करके जब अपने घर अयोध्या लौटे तो उनके आने के ख़ुशी में अयोध्यावासी अपने – अपने घर दियो से सजा दिया था । भगवान राम के साथ में उनके भाई लक्ष्मण और उनकी पत्नी माता सीता जी भी अयोध्या वापस लौटे थे ।

निष्कर्ष

हम जिस महान देश में रहते है उसका नाम है भारत । भारत देश अनेकता में एकता का प्रतिक माना जाता है । भारत देश एक ऐसा देश है जहाँ पर हर धर्म के लोग रहते है और वो अपना त्यौहार खुशियाँ के साथ मनाने की आजादी रहती है ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!