बैंक पर निबंध l प्रकार l लाभ हानि l Essay On Bank In Hindi

आज के समय में हमें धन एकत्रित करने के लिए बैंक की अत्यंत जरुरी है l बैंक न हो, तो देश की आर्थिक स्थिर नही रह पायेगी l बैंक एक ऐसा संसथान है, जहाँ लोग विश्वास के साथ अपने पैसे जमा कर सकते है l

बैंक में अपनी राशि जमा करते है l हमें उस राशि का बैंक ब्याज देती है l बाकि की खोज यरोपियन वालो ने की l तब से लेकर बैंक की सुविधाओ में बहुत से बदलाव आये है l आज बैंक इतना आगे बढ़ गया है, कि हर छोटे-छोटे गॉव ने भी बैंक कि सेवाएँ उपलब्ध है l

बैंक का इतिहास :

बैंक की खोज यूरोपियन लोगो ने कि है l बैंक की शुरुआत १४ वी शताब्दी में इटली में हुई थी l भारत में बैंक की शुरुवात 19 शताब्दी से हुई l बैंक अर्थव्यवस्था संभालने में एक बड़ा योगदान देता है l बैंक राशि जमा करने का और ऋण (loan) देने का काम करती है l

दुनिया में सबसे पहला बैंक साल १४०६ में इटली देश में हुआ था l इटली में जेनेवा में स्थापित हुआ था l देश के पहले बैंक का नाम सेंट जोंर्ज बैंक था l धीरे-धीरे भारत में भी 19 शताब्दी में बैंक शुरू हुआ l  ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा बैंक ऑफ़ बम्बई, बैंक ऑफ़ कलकत्ता और बैंक ऑफ़ मद्रास की शुरुआत हुई l

बैंक के लाभ :

बैंक देश की अर्थव्यवस्था को स्थिर रखने में मदद करती है l बैंक हमारी धन राशि को अपने पास रखती है l और कुछ दिनों बाद उस राशि पर ब्याज भी देती है l हमारे द्वारा जमा किये गये राशि को एकत्रित करके बैंक बड़े-बड़े व्यापारियों और उद्धयोग पतियों की आवश्यकता पड़ने पर लोन के रूप में मदद करती है l बैंक की तरफ से सुविधाओ में बहुत ही वृद्धि हुई है l खाता खोलने के बाद हमें चैक बुक और एटीएम कार्ड देती है l चैक बुक की मदद से हम बडी रकम कही भी जा कर आसानी से लेन देन कर सकते है, और हमारे पास लिखित में सबुत भी रहता है l

एटीएम कार्ड द्वारा हमें कही भी पैसे की जरूरत पड़ने पर पैसे निकल सकते है l बैंक द्वारा अब क्रेडिट कार्ड की सुविधा आ चुकी है l क्रेडिट कार्ड होने पर अगर हमारे बैंक खाते में पैसे नही हो, तो भी जरूरत पड़ने पर हम खरीदी कर सकते है l बैंक की तरफ से अब नेट बैंकिंग की सुविधा भी आ चुकी है l जिसकी सहायता से हम घर पर या ऑफिस में बैठे किसी को भी पैसे ट्रान्सफर कर सकते है l यह प्रकिया बिलकुल सुरक्षित है l क्योकि यह काम करते समय पासवर्ड उपयोग करते है, जो केवल हम ही पता होता है l बैंक के और भी कई सारे फायदे है l

बैंक के कार्य :

बैंक हमारी धन राशि को जमा करता है, उसके बाद उस धन राशि पर ब्याज भी देता है l बैंक बड़े-बड़े लोन भी देता है l जैसे : व्यापारी लोन, घर लोन, कार लोन और एजुकेशन लोन इत्यादि l

बैंक अपने ग्राहकों की सुविधा के लिए कई सारी एजेंसी से जुड़ा है l जैसे कि : लाइट बिल, मोबाइल बिल, बिमा कंपनी, insurance कंपनी इत्यादी l

बैंक अपने ग्राहकों के कीमती वस्तुओं को सुरक्षित रखने के लिए लॉकर की भी सुविधा देती है l जिसमे लोग अपना कीमती चीजे और पेपर संभालकर रख सकते है l बैंक एटीएम कार्ड , क्रेडिट कार्ड और इन्टरनेट बैंकिंग की सुविधा देती है l जिसे घर बैठे दुनिया के किसी भी कोने में पैसे का स्थानान्तरण कर सकते है l

बैंक के प्रकार 

बैंक को अलग-अलग क्षेत्रो में बाटा गया है l बैंक के मुख्य 6 प्रकार है l

औद्योगिक बैंक, व्यापारिक बैंक, कृषि बैंक, विदेशी विनमय बैंक, केन्द्रीय बैंक, बचत बैंक l

बचत खाता आम जनता के लिए बनाए गये है, जो अपनी बची हुई राशि को बचत खाते में जमा कर सके l कृषि बैंक किसानो के लिए बनाये गये है, ताकि किसान को आसानी से खाद और लोन मिल सके l केन्द्रीय बैंक देश का सर्वोचत्तम बैंक है l इस बैंक में देश की सभी प्रकार के नोट छापे जाते है l केन्द्रीय बैंक देश के सभी बैंको को संचालन करती है l

रेपो रेट क्या है ? (What is Repo Rate?)

जैसे हमें पैसे की जरूरत पड़ने पर हम बैंक से लोन लेते है l ठीक उसी प्रकार बैंक को भी अपनी जरूरत या रोजमर्रा के कामकाज के लिए पैसे की जरूरत पड़ती है l इसके लिए बैंक भारतीय रिजर्व बैंक से कर्ज  लेती है l बैंक इस कर्ज को चुकाने के लिए जो ब्याज देती है उसे रेपो रेट कहते है l

Cash Reserve Ratio (CRR) क्या है ?

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा आधारित कुछ राशि या परसेंटेज हर बैंक को रिजर्व बैंक के पास जमा करना पड़ता है l इसे CRR कहते है l

Statutory liquidity Ratio (SLR) क्या है ?

बैंक को अपने पास कुछ राशि जमा करके रखना पड़ता है, उसे SLR कहते है l यह राशि कितना जमा करना है, इसका निर्धारण रिजर्व बैंक करती है l

निष्कर्ष:

बैंक न हो, तो देश की आर्थिक व्यवस्था रुक जाएगी l बैंक के बिना कोई भी उन्नति नही कर सकता है l बैंक हमें आगेर बढ़ने के लिए लोन प्रदान करती है l बैंक के अनगिनत सेवाएँ है l जिससे आज हम और हमरा देश उन्नति कर रहा है l

2 thoughts on “बैंक पर निबंध l प्रकार l लाभ हानि l Essay On Bank In Hindi”

  1. Pingback: रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट l Essay On Repo Rate In Hindi - HindiEnglishessay

  2. Pingback: Essay On Bank In English for Students & Childrens - HindiEnglishessay

Leave a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!