मेरा विद्यालय पर निबंध l My School Essay In Hindi for Students & Children

मेरे विद्यालय का नाम ______ है l मेरा विद्यालय बहुत ही प्रिय विद्यालय है l यहाँ पर हर तरह की चीजे सिखाई जाती है l बच्चो को शिक्षा देना और विद्या देना प्रथम कार्य है l इसके साथ अलग प्रकार की चीजे भी सिखाई जाती है l जैसे की खेल कूद, नृत्य, गाना और सिलाई – बुनाई आदि सिखाये जाते है l मेरे विद्यालय का वातावरण शांत रहता है l वहाँ जाकर ऐसा लगता है जैसे किसी मंदिर में आये है l

मेरे स्कूल की स्थापना सन (_____) में हुई थी l यहाँ पर फीस बहुत कम है ताकि गरीब और मध्यम वर्ग के बच्चे भी पढ़ सके l मेरे विद्यालय में शिशु (Jr. KG) से लेकर दसवीं तक के कक्षा है l मेरा विद्यालय एक इंटरमीडिएट कॉलेज भी है, जहाँ 11वी और 12वी की पढाई की जाती है l यहाँ एक कक्षा के 3 – 4 विभाग होते है ताकि हर विभाग में बच्चे अच्छे से बैठ सके और पढाई शांति से कर सके l

स्कूल की सुविधाएँ –

मेरा विद्यालय की इमारत तीन मंजिले की है l इसमें कम से कम 50 कमरे होंगे l कंप्यूटर क्लास है हर कमरे में पंखे लाइट और सुविधा अनुसार फर्नीचर है l

मेरे विद्यालय में लगभग चार या साढ़े चार हजार विद्यार्थी है l अध्यापक – अध्यापिकाओ की संख्या पचास है और इसके अलावा दस – पन्द्रह अन्य स्टाफ है l इनमे तीन क्लर्क, दो चौकीदार, एक माली एवम पांच चपरासी है l चौकीदार कभी दिन में तो कभी रात में अपनी ड्यूटी करते है l

मेरे स्कूल में हर विषय के शिक्षक है, सभी शिक्षक अपने – अपने विषय के ज्ञानी है l मेरे स्कूल का हर एक लेक्चर 30 मिनट का होता है l 3 लेक्चर के बाद पानी पीने के लिए 15 मिनट का ब्रेक मिलता है l और 5 लेक्चर के बाद 30 मिनट का लंच होता है l और महीने के आखिरी दिन हाफ डे रहता है l

विद्यालय में शुद्ध और स्वच्छ पीने का पानी उपलब्ध है l यहाँ का शौचालय भी साफ – सुथरा रहता है l मेरे विद्यालय में एक बहुत अच्छा पुस्तकालय भी है, जहाँ पर हमें हर तरह की पुस्तक पढने को मिलती है l जैसे कहानियाँ, कविताएँ इत्यादि और भी कई तरह की पुस्तक मिलती है, जो हमारे काम के लायक होती है l

स्कूल का पुस्तकालय

पुस्तकालय में घुसने के पहले हमें अपने स्कूल का पहचान पत्र दिखाना पड़ता है या जमा करना पड़ता है l एक सप्ताह के लिए फ्री में मिलता है, जो हम घर ले जाकर पड़ सकते है l अगर समय पर लाकर पुस्तक नही दिए तो फिर दंड भरना पड़ता है l

आजकल शिक्षा को प्रस्तुत करने के लिए अलग – अलग तरह की तकनिकी आ गयी है l मेरे विद्यालय भी यह तकीनीकी का उपयोग किया जाता है l जैसे की कंप्यूटर चलना सिखाया जाता है, कभी – कभी किसी कठिन विषय को सिखाने के लिए PC में दिखाकर सिखाया जाता है l

मेरे विद्यालय में हर दिवस को मनाया जाता है l जैसे गणतंत्र दिवस, स्वतंत्र दिवस, गाँधी जयंती, शिक्षक दिवस, बाल दिवस इत्यादि सभी दिवस मनाये जाते है l

स्कूल की विशेषताये –

  • मेरे स्कूल में सभी विद्यार्थी अनुशासित और आज्ञाकारी है और वो सभी शिक्षको का सम्मान एवं आदर करते है l
  • मेरे स्कूल में पढाई के साथ – साथ और भी बहुत कुछ सिखाया जाता है l
  • मेरा स्कूल तकनीकी के हिसाब से बदलता रहता है l
  • मेरे स्कूल के सभी शिक्षक ज्ञानी और अच्छे स्वभाव के है l
  • मुझे मेरा स्कूल बहुत ही प्रिय है l

निष्कर्ष

विद्यालय हमारे लिए ज्ञान का मंदिर है l जहाँ हमें सही और शुद्ध भाषा बोलने के लिए सिखाया जाता है और अच्छे मार्ग पर चलना सिखाया जाता है l इसलिए हमें अपने स्कूल पर गर्व करना चाहिए l

Leave a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!