मेरे गाँव पर निबंध l Essay On My Village in Hindi

गाँव के लोगो का जीवन बहुत शांतिपूर्ण रहता है l गावों में जन्नत बसती है l गाँव में रहने वाले सभी शांत और शुद्ध वातावरण में रहते है l वहा रहने वाले का जीवन आरामदायक होता है l आज भी भारत के आधी आबादी गावों में रहती है l गावों में रहने वाला का जीवन बड़ी ही सरल और सादगी भरा होता है l

गावों में रहने वालो का ज्यादा करके कामकाज कृषि का होता है l जिन्हें हम किसान कहा जाता है l हमारा भारत देश किसानो के कृषि कार्य से प्रसिद्ध है भारत को कृषिमय देश भी कहा जाता है l

गाँव के लोगो का जीवन सीधा – सादा होता है, वह अक्सर करके वही भोजन पकाते है जिसकी वह खेती करते है l इसलिए गाँव वाले लोग तंदरुस्त होता है क्योकि उन्हें ताज़ी हवा के साथ ताजी सब्जियाँ भी खेतो से प्राप्त होती है l

आज भी गावों में हमारे पुराने परम्पराओ को माना जाता है l जो सदियों से चली आ रही है l यहाँ पर लोग मिल-जुलकर और एक साथ एकत्रित रहना पसंद करते है l गाँव में खिली धुप और खुली हवा का आनंद लेने में बड़ा मजा आता है l यहाँ चारो तरफ देखने पर हरियाली ही हरियाली दिखाई देती है l

गावों में लोग कृषि के साथ कई अन्य कार्य भी करते है l इसके अलावा गाव के लोग पशुपालन, मुर्गीपालन, मधुमक्खी पालन आदि तरह के व्यवसाय भी करते है, इस सब से किसानो को अतिरिक्त आमदनी होती है l जैसे गाय, भैस का दूध बेचकर भी आमदनी आती रहती है उनके द्वारा दिये गोबर का भी उपयोग करते है l

गाँव के जीवन का आनंद –

शहर से लोग एक बार गाँव जरुर आते है, उनके लिए यह समय बहुत ही यादगार, शांतिपूर्ण और आरामदायक होता है l गाँव की चारो तरफ हरियाली को देख कर बहुत अच्छा लगता है l

गाँव में रहने के फायदे –

  • गाँव का जीवन शांत और साधारण होता है l
  • गावों में लोग सुबह जल्दी उठ जाते और रात में जल्दी सोते है l जिससे उनकी सेहत अच्छी होती है l
  • गाँव के लोगो का जीवन शांतिपूर्ण रहता है l शहर में रहने वाले लोगो की तरह भागा दौड़ी वाला जीवन नही होता है l
  • गावों में रहने वाले लोग अधिकतर करके कृषि का कार्य करते है l जिससे वह ताजी सब्जियाँ और पौष्टिक आहार का सेवन करते है l
  • गाँव के लोग काम पे जाने के लिए साधन में अधिकतर साइकिल का उपयोग करते है l जिससे गाँव में प्रदूषण नही फैलता और ना ही हवा दूषित होती है l
  • गावों में प्रदूषण ना होने की वजह से वहा पर शुद्ध और स्वच्छ हवा मिलती है l
  • गावों में लोग कृषि के साथ – साथ अन्य कार्य भी करते है, जैसे गाय, भैस का दूध बेचना इत्यादि l
  • पशुओ द्वारा दिये गये गोबर का लोग खाना बनाने के लिए और खेतो में मिटटी को उपजाऊ बनाने के लिए करते है l
  • गाँव में वाहन का सुविधा न होने की वजह से लोग पैदल यात्रा किया करते है l जिसके वजह से वहा के लोग तंदरुस्त रहते है l
  • शहर की तुलना में गाँव का जीवन अत्यंत शांतिपूर्वक है l

गाँव में रहने पर होने वाली परेशानियाँ –

  1. गावों में हर एक गाँव में स्कूल नही होते है, जिससे अधिकतर बच्चे ढंग से शिक्षित नही हो पाते है l
  2. गावों में ज्यादा काम नही होने की वजह से सभी शहरो में जाना पसंद करते है l
  3. गाँव में अस्पताल की सुविधा नहीं होने पर गाँव के लोगो का समय पर इलाज नही हो पाता है l
  4. गावों में सभी परिवार एक साथ रहते है तो उनमे झगडे भी होता रहता है l
  5. गाँव में और भी कई तरह की सुविधाए न हो पाने की वजह से लोगो को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है l

गाँव और शहर के जीवन में अंतर

शहर के जीवन में और गाँव के जीवन में बहुत अंतर होता है l शहरो में हमेशा भीड़ – भाड़ से भरा जीवन रहता है l शहरो में कारखाने और कंपनियों के होने की वजह से प्रदूषण अधिक फैलता है l इससे शहरों में हवा और पानी शुद्ध नही मिलता है और यहाँ प्रदूषण होने के कारण लोग ज्यादे बीमार पड़ते है l

गाँव में लोग शांतिपूर्ण तरीके से रहते है l यहाँ हमेशा शुद्ध हवा मिलती रहती है, क्योकि यह बड़ी – बड़ी इमारते नही होती है l जो हवाओ को रोक सके l गावों में चारो तरफ पेड़ पौधे होते है इसलिए वहा हरियाली होती है l गाँव में कोई कंपनी नही होती जिससे वहा पर प्रदूषणरहित वातावरण रहता है l

गाँव और शहरो की रचना

शहरो में हर जगह बड़ी – बड़ी इमारते होती है l आलिशान बंगला होता है और पक्की सड़के होती है जो दिखने में बहुत ही सुंदर लगता है l शहरो की सुदंरता बहुत ही मनमोहक होता है, परन्तु वहा का वातावरण शुद्ध नही होता है l प्रदूषण से लिप्त होता है l

लेकिन गावों में शहरो से बिलकुल विपरीत होता है l गाँव में हर हरियाली के साथ – साथ शुद्ध हवा और पानी भी देखने को मिलता है l हर तरफ बगीचे पेड़ – पौधे होते है जिससे वातावरण शुद्ध रहता है l गावों में लोग ज्यादे पेट्रोल और डीज़ल वाली वाहनों का इस्तेमाल नही करते है जिससे वायु में प्रदूषण फैलने की मात्रा बहुत कम रहती है l

यहा कंपनियों और फैक्ट्रियो के द्वारा विषैले गैस और दूषित पानी नदियों नालो में नही बहता है जिससे यहा का पानी साफ रहता है l जिससे जानवर भी पी सकते है उन्हें कोई हानि नही पहुँचता है l

गावों में हो रहे तेजी से तरक्की –

अब गावों में भी तेजी तरक्की हो रही है l गावों में भी अस्पतालों की सुविधा उपलब्ध कराया जा रहा है l जगह – जगह अस्पताल बन गये है और वहा पर बड़े से बड़े रोगों का इलाज के लिए डॉक्टर मौजूद है l गावों में स्कूल की सुविधा बढ़ रही है, जिससे हर गरीब घर का बच्चा अच्छे से पढाई कर सके l

गावो में अब बिजली, पानी, टेलीफोन, मोबाइल फोन, कंप्यूटर इन्टरनेट जैसे सभी सुविधाए मिल रही है l किसानो को कृषि करने के कृषि यंत्र भी उपलब्ध है, जिससे कृषि करना आसान हो गया है l इसलिए लोगो के शहर से ज्यादा गाँव प्रिय लगने लगा है l

गाँव में लोग कब आना पसंद करते है ?

अक्सर करके लोग गाँव में ग्रीष्मकालीन के समय आना पसंद करते है l क्योकि उस समय सभी बच्चो की छुट्टियाँ हुई रहती है l कभी – कभी लोग शहरो में भागा दौड़ी की वजह से परेशान हो जाते है, तब वो गाँव में आकर शांति से कुछ दिन रहना पसंद करते है l

निष्कर्ष

जैसा की हम कह सकते है कि बड़े – बड़े शहरो के लोग गाँव के कृषि पर ही निर्भर है l क्योकि शहरो में फैक्ट्रियो से कुछ भी कर सकते  लेकिन  अनाज नही उगा सकते  l लोग कहा करते है की गाँव में जन्नत होती है l गाँव शकुन और शांति का प्रतीक है l

Leave a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!