महानगरीय जीवन पर निबंध l Metropolitan Life Essay in Hindi

महानगरीय का अपने जीवन में बहुत बड़ा महत्व है, इसका मतलब ये है की लोग बड़े – बड़े शहरो में रहना पसंद करते है क्योकि उसमे अनके सुविधाये मिलती है l जैसे की शहरो में बड़ी – बड़ी फैक्टरिया, दफ्तर, स्कूल, कॉलेज में सुख सुविधाये आसानी से मिलती है ऐसे में लोग महानगरो लोग बसना पसंद करते है l लोगो को अच्छा रहन – सहन देखने को मिलता है, महानगरीय में लोगो को रोजगार और रहने का मकान सुवव्स्थित मिलता है l

महानगर लोगो को एक आकषर्ण का केंद्र बना हुआ है जैसे भारत देश कुछ महानगर है जैसे दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई l ऐसे महानगर शहर में ज्यादे भीड़ भाड़ भी होती है क्योकि हर कोई वह बसना चाहता है वह की सुख सुविधाओ का लुफ्त उठाना चाहता है l

महानगर का अर्थ ये ही है की ऊँची – ऊँची इमारते, बड़ी – बड़ी कारखानो, बड़ी – बड़ी गाड़िया, मेट्रो ट्रेन जैसे सुविधा से लैस होता है l पुरे विश्व की महानगर की बात करे तो न्यूयार्क, वाशिंगटन, लंदन, टोक्यो, पेरिस, इत्यादि सब प्रमुख शहर है l

लोग गाँव से उठकर शहरो यानि महानगरो की ओर जाते है ताकि उच्च शिक्षा प्राप्त कर सके और अपना सपना साकार कर सके l वर्ष दर वर्ष महानगरो की संख्या बढती जा रही है l महानगरो में हर कोई चीज आसानी से मिल जाती है चाहे ओ शिक्षा हो या चिकित्सा हो या और कुछ भी लोगो को मुलभुत सेवा अनुसार सारी चीजे मिल जाती है l

वैसे तो इस वर्तमान समय में भारत देश में नगरो को महानगरो में परिवर्तन किया जा रहे है l महानगरीय जीवन एक अभिशाप से कम नही है ऐसा कहा जाता है l क्योकि लोग अपना घर द्वार छोड़कर महानगर को आकर्षित होते है l

महानगरो का महत्व

भारत की महानगरो में एक अपनी ऐतिहासिक और सांस्कृतिक का अलग ही महत्व है l ज्यादेतर लोग विदेशों आते है भारत की इस ऐतिहासिक और सांस्कृतिक परम्परा को देखने के लिए l यही तो खासियत है इस महानगरो की जो पुरे विश्व में स्थापित है l हर कोई लोग वहा जाकर वहा की भाषा समझाना चाहता है और बसना चाहते है l

परन्तु ये भी सत्य है की महानगरीय जीवन मनुष्यों के लिए वरदान से कम नही है l जहा जाकर लोग अपनी मन की मुरादे पूरी करते है l लोगो को उन शहरो में जाकर सुख और शांति की अनुभूति होती है साथ ही में स्वर्ग जैसे सुख की भी प्राप्ति होती है l वैसे तो ये धनी वर्ग के लोग लिए ही ये महानगरीय का वरदान प्राप्त है l

महानगरो की सुविधा 

बड़े शहरो में हर चीज की सुविधा मिलती है जैसे खेलकूद मनोरंजन, व्यवसाय, रोजगार, कुशल चिकित्सा इत्यादि इस सभी के बेहतरीन अवसर प्रदान होते है l कुछ चिकित्सको में विश्वस्तरीय संसाधन भी उपलब्ध होते है l पढाई के लिए महानगरो में उत्तम ब्यवस्था किया गया है जहा उच्चस्तरीय की शिक्षा दी जाती है l

महानगरो में विकास दर बहुत तेजी से बृद्धि कर रहा है l इससे लोग वहा पर छोटे बड़े रोजगार (नौकरिया) मिलने की क्षमता जादे होती है l गाँवो में विकास दर धीरे है इसलिए वहा पर सुख सुविधाओ की कमी है l महानगरो का सुख केवल धनी लोग ही ले पाते है बाकि तो जो गरीब लोग होते वो बस अपना मजदूरी करके जीवन का गुजर बसर करते है l

महानगरो में जितने सुविधाए है वहा उतना ही प्रदुषण होता है l सब कुछ अच्छा तो दिखता है पर उसका फायेदा देखे तो सब ले नही पाते है क्योकि गाडियों, फैक्टरियों से जो धुआ निकलता है उससे कई तरह की बिमारियों होती है जैसे स्किन, आँखों के लिए नुकसानदायक होती हैl

निष्कर्ष

हमसब को मिलकर ज्यादे से ज्यादे एक दुसरे के बारे में सोचना चाहिए l ताकि ये सुविधा सब तक पहुचना चाहिए, गाँवो को भी विकसित करना चाहिए और लोगो जागरूक करना चाहिए साफ सफाई का ध्यान देना चाहिए ताकि प्रदूषण से मुक्त हो सके l

सब स्वच्छ हवाओ में जी सके और सारी सुविधाओ का लाभ ले सके l

 

ll हर सुख शांति बिना परिश्रम के नही मिलती ll

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!