स्वच्छ भारत अभियान हिंदी में l एक कदम स्वछता की ओर

स्वछता हमारा कर्म ही नही एक हमारा धर्म है l स्वछता हमारे जीवन के लिए बहुत ही जरुरी है हमें अपने घर, अपना देश को स्वच्छ रखना चाहिए l हमें अपना गाव, अपना शहर, गली, मोहल्ला सब को स्वच्छ रखना चाहिए l ताकि हम सब स्वस्थ और शांति से रह सकेl

स्वच्छ भारत अभियान तत्कालीन प्रधानमंत्री माननीय नरेन्द्र दामोदर दास मोदी जी द्वारा हमारे राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी जी के जयंती के सुअवसर पर 2 अक्टूबर 2014 को शुरुआत किया गया था l जो पुरे देश में स्वच्छता अभियान जोर शोर से चला था गावो और शहरों में l इसका मुख्य कारण देश को स्वच्छ और स्वस्थ बनाना है l

यह एक गाँधी का सपना था की अपने पुरे देश को स्वच्छ कर सके इसी सोच से श्री नरेंद्र मोदी ने भी अपने मन में ठान लिया की गाँधी जी सपना पूरा करना है l

स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत


भारत देश की गंदगी और बिगति हुई छवि को देख कर, देश के तत्कालीन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी  ने बापू महात्मा गाँधी के 145वी जयंती पर 2 अक्टूबर 2014 के दिन स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की थीl

उन्होंने ये लक्ष्य रखा था की अगले 5 साल यानि की 2 अक्टूबर 2019 को जब देश में महात्मा गाँधी का 150 जयंती मना रहा होगा तब हम अपने देश को स्वच्छ अभियान के तहत गाँधी जी सपने साकार होते हुए देख रहे होंगेl

यानि की गंदगी और बिमारियों से मुक्त होंगे और भारत देश एक स्वच्छ और स्वस्थ के रूप में उभरेगा l

अभियान के शुरुआत के समय माननीय प्रधानमंत्री जी ने नामचीन हस्तियों को इससे जोड़ा इस अभियान को आगे बढाने के लिए जैसे मृदला सिंह, सचिन तेंदुलकर, बाबा रामदेव, शशि थरूर, अनिल अम्बानी, कमल हसन, सलमान खान, प्रियंका चोपड़ा और तारक मेहता का उल्टा चश्मा की टीम को स्वच्छ भारत के अभियान को आगे बढाने के लिए आमंत्रित किया था l

स्वच्छ भारत अभियान का उद्देश्य


स्वच्छ भारत का मिशन पुरे जोर शोर से राष्ट्रीय स्तर पर चलाना था और सभी गाँवो, कस्बो और शहरीय इलाकों को इसमे शामिल करना l और लोगो को स्वच्छता के बारे में प्रेरित करना, जागरूक करना ताकि ओ अपने अगला बगल गली, मोहल्ला को स्वच्छ रखे l इसका मुख्य कारण ग्रामीण क्षेत्रों को जागरूक कर दिनांक 02 अक्टूबर 2019 तक स्वच्छ बनना था l

स्वच्छता अभियान के उद्देश्य को पूरा करने के लिए बहुत सारे लोगों को इसमे जोड़ा गया जैसे न केवल सफाईकर्मीयो को ही नही बल्कि और भी श्रमिको और देश के नागरिको को इस अभियान (स्वच्छता) को आगे बढाने के लिए अपील की गयी है l

 इस अभियान का उद्देश्य हर व्यक्ति के घर में शौचालय होना खुले में शौच से मुक्त करना या समाप्त कर देना l

स्वच्छ भारत अभियान उन्नति की ओर एक कदम


हमारे भारत देश में सभी राज्य और केद्रशासित प्रदेशो ने इस स्वच्छता अभियान में अपना – अपना योगदान दिया है l इस सराहनीय कदम को आगे बढ़ाते हुए महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश राज्य के सूबे के मुख्यमंत्री द्वारा ये आदेश जारी किया गया है की सार्वजनिक जगहों (स्थलों) पर तंबाकू, गुटखा, पान इत्यादि खा कर ना थूके, जो भी ऐसा करते हुए पाया जायेगा उस जुर्माना लगेगा l

ऐसे ही और भी कई राज्यों में प्लास्टिक की थालियों पर भी प्रतिबंध लगाया गया है l ऐसे में जो कम पढ़े लिखे लोग होते है उनके लिए जगह – जगह स्वच्छता अभियान के बोर्ड के द्वारा निर्देशित किया गया है l कचरे के डिब्बे हर सार्वजनिक जगहों पर प्रदान किया गया है l

एक कदम स्वच्छता की ओर


भारत सरकार ने एक सहयोगात्मक और रचनात्मक मंच तैयार किया जो राष्ट्रीय स्तर पर ये आन्दोलन (स्वच्छ भारत अभियान) सफलतापूर्वक सुनिश्चित हो सके l इस मंच से सभी नागरिको और संगठनों को अभियान संबन्धित सारी जानकारी प्रदान करता है l

इस अभियान के तहत कोई भी व्यक्ति चाहे सरकारी संस्था से हो या किसी निजी संगठन से हो अभियान में भाग ले सकता है l

इसका मुख्य कारण लोगो के साथ मिलकर कुछ घंटे निकालकर भारत को स्वच्छ संबन्धित कार्य के लिए प्रोत्साहित करना है l

स्वच्छ भारत अभियान की उपलब्धिया


इस अभियान तहत देश के हर नागरिक को खुले में शौच से मुक्त करना है l इसके तहत ही सरकार ने गाँधी जी 150वी वर्षगाठ तक ग्रामीण क्षेत्रों में 1.96 लाख करोड़ रूपये की अनुमानित लागत से 1.2 करोड़ शौचालयो का निर्माण करके शौच से मुक्त भारत (ओडीफ) को इस लक्ष्य को हासिल करना है l

  • इस अभियान के तहत भारत सरकार लगभग 10 करोड़ टॉयलेट बनवा चुकी है l
  • ज्यादेतर आयल पेट्रोल पंपों के पास शौचालयों का निमार्ण हो चुका है l
  • पुरे भारत देश में 700 ज्यादा जिलो में इस अभियान के तहत काम किया गया है l

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!