भ्रष्टाचार पर निबंध l कारण l Essay On Corruption in Hindi

लोग आज के समय में सफलता प्राप्त करने के लिए और सफलता के साथ साथ उन्हें अत्यधिक पैसे कम समय में और कम मेहनत से कमाने के लिए भ्रष्टाचार जैसे काम करते है l कुछ लोग अपने सपने को पूरा करने के लिए आज के लोग भ्रष्टाचार का रास्ता अपना रहे हैl

अब के लोगो को यह लगता है की ईमानदारी और सच्चाई के रास्ते पे चलके कुछ भी हासिल नही हो सकता है, उनका यह सोचना है की ईमानदारी के रास्ते पर चलने से कई साल लग जायेगे सपने को पूरा होने में l इसलिए आज के लोग भ्रष्टाचार का रास्ता अपना रहे है l

भ्रष्टाचार कैसे चलता है ? 

हमारा देश विकसित न होने के पिछे भ्रष्टाचार भी एक कारण है l भ्रष्टाचार हमारे देश को अंदर से खोखला बना रही है l भ्रष्टाचार सिर्फ राजनितिक में ही नही बल्कि कई क्षेत्र में इसका प्रभाव दिखाई दे रहा रहा हैl और हमारे देश में भ्रष्टाचार तेजी से बढ़ रहा है l

भ्रष्टाचार के कई रूप है, घुस लेना , रिश्वत , टैक्स में चोरी , परीक्षा में नक़ल करवाना , परीक्षाओ के प्रश्न पेपर बेचना, पैसे लेके विद्यार्थियो को पास करना, उच्च मार्क देना, पैसे ले कर किसीका बुरे साथ में मदद्त करना इत्यादि, भ्रष्टाचार का एक रूप है l

हमारे देश में भ्रष्टाचार तेजी से बढ़ रहा है, अगर इसे नही रोका जाये तो भ्रष्टाचार पुरे देश को अपनी चपेट में ले लेगा l

भ्रष्टाचार के कारण

भ्रष्टाचार बढ़ने के कारण है महगाई , कम शिक्षित होना, अच्छी नौकरी न मिलना और भी कई कारण हैl भ्रष्टाचार एक बुरी आदत है ऐसे काम और आदतो को हमें छोड़ना होगा l

जो मनुष्य अपनी सफलता प्राप्त करने के लिए गलत रास्तो पर चले वो एक भ्रष्टाचारी मनुष्य है l मनुष्य कई कारणों से भ्रष्टाचार के रास्ते चुन लेता है आर्थिक परेशानी, समजिक परेशानी और अपने अधिक तरक्की के लिए l

अगर अपने कार्यालय में हमारा पदवी नही बढ़ रही है, तो हमारी तनख्वाह नही बढेगी, हम अपनी पदवी बढाने के लिए मेहनत नही करना चाहते है , इसलिए रिश्वत दे कर अब अपने अरमानो को पूरा करते है, ये भी एक भ्रष्टाचार है l

भ्रष्टाचार की समस्या 

स्कूलो में अच्छी विद्या प्राप्त करने के बाद भी है विद्यार्थी असफल हो जाते है,तो कई विद्यार्थी के माता-पिता रिश्वत दे कर सफल परिणाम पत्र लेते है ये भी एक प्रकार का भ्रष्टाचार है l

जिससे वह विद्यार्थी परिणाम पत्र लेके भी अशिक्षि रह जाता है और आगे जा कर भ्रष्टाचार का रास्ता अपनाता है l

चुनाव के समय बड़े बड़े वादे करके और पैसो से वोट ख़रीदा जाता है, और चुनाव जितने के बाद अपने वादे भुल जाते है ये भी एक प्रकार का भ्रष्टाचार है l

बड़े बड़े कार्यालयों और कंपनियों में पैसे ले कर नौकरी दी जा रही है जिसे कुछ नही आता है और अच्छे विद्यार्थी जो समझदार होते है इसके योग्य होते है उसे नौकरी नही मिल पाती क्यों की उसके पास सिर्फ ज्ञान है पैसे नहीl

यह भी एक प्रकार का भ्रष्टाचार है l जिसे रोकने की अत्यधिक जरूरत है नही तो हमारा देश कभी विकशित नही हो पायेगा l

निष्कर्ष

भ्रष्टाचार को रोकना अत्यधिक जरूरत है l नही तो हमारा देश खोखला होते जा रहा है ,क्यों की योग्य मनुष्य को उसके योग्यता के हिसाब से काम या मदद नही मिल पा रही है l जिसके वजह से भ्रष्टाचार बढ़ते जा रहा है l

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *