15 अगस्त पर निबंध l Independence Day Essay In Hindi

इस साल भारत अपना ७५ वा स्वतंत्रता दिवस मनाया गया l जैसे की सबको पता है की 15 अगस्त १९४७ को हमारा भारत देश ब्रिटिश शासन से पूरी तरह से आजाद हो गया था l तब से सभी भारतवासियों मिल कर इस दिन को बहुत ही उत्साह और आनंद के साथ मानते है l भारत को आजादी मिलने के बाद से इस वर्ष हम इस दिन को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है l

15 अगस्त यानि की स्वतंत्रता दिवस को देश में राष्ट्रीय अवकाश के रूप में घोषित किया गया है l और स्वतंत्रता दिवस के दिन सभी सरकारी कायार्लय बंद होते है l जैसे की बैंक, पोस्ट ऑफिस, अन्य सभी सरकारी दफ्तर इत्यादि l इसके साथ ही सभी स्कूलो, कॉलेजों और ऑफिस में तिरंगा फहराया जाता है l और तिरंगा फहराने के साथ – साथ कुछ कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है l

15 अगस्त 1947 भारत के लिए बहुत भाग्यशाली दिन माना गया था l इस दिन अंग्रेजो की लगभग 200 वर्ष गुलामी के बाद हमारे देश को आजादी मिली थी l हमारे भारत देश को आजादी दिलाने के लिए कई स्वतंत्रता सेनानियों को अपनी जान गवानी पड़ी थी l हमारे देश के स्वतंत्रता सेनानियों ने कठिन संघर्ष के बाद हमारा भारत देश अंग्रेजो की हुकूमत से आजाद हुआ था l तब से लेकर आज तक हम सब भारतवासी मिल कर स्वतंत्रता दिवस मनाते है l

स्वतंत्रता दिवस पर भाषण हिंदी में ;

स्वतंत्रता दिवस यानि 15 अगस्त को भारत के लोगो का आजादी का दिन होता है l इसके दो या तीन  दिन पहले ही भारत के राष्ट्रपति देश के समक्ष किया जाता है l जिसे रेडियो के साथ – साथ टीवी चैनेल्स में भी बताया या दिखाया जाता है l स्वतंत्रता दिवस को हर वर्ष हमारे देश के प्रिय प्रधानमंत्री लाल किला पर तिरंगा फहराते है और तिरंगा फहराने के बाद राष्ट्रगान गवाया जाता है l और 21 तोपों  की सलामी दी जाती है l

इसके साथ ही सशस्त्र बल और एसीसी कैडेड परेड करते है l इस दिन के लाल किला पर किए गए कार्यक्रम को टीवी के डीडी नेशनल चैनल और न्यूज़ के माध्यम से दिखाया जाता है l आतंकवाद के खतरे को ध्यान में रखते हुए सुरक्षा के कड़े से कड़े इंतजाम भी किये जाते है l

भारत के हर कोने में हर वर्ष 15 अगस्त यानि स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है l प्रत्येक व्यक्ति के लिए स्वतंत्रता का विशेष महत्व होता है l इसलिए हर भारतीय के लिए यह दिन बहुत ही महत्वपूर्ण होते है l 15 अगस्त 1947 को भारत को अंग्रेजो की परतंत्रता के बाद स्वतंत्रता प्राप्त हुई थी l 15 अगस्त को हम राष्टीय त्यौहार के रूप में मनाते है l हमारे भारत देश को कई वर्षो के विद्रोहों के बाद ही हमने स्वतंत्रता प्राप्त की और १४वा और 15 अगस्त १९४७ की मध्यरात्रि को भारत एक स्वतंत्र देश बन गया l

दिल्ली के लाल किले में पंडित जवाहरलाल नेहरु ने पहली बार भारत के झंडे को फहराया गया और सलामी दी गयी थी l और उन्होंने मध्यरात्रि के स्ट्रोक पर ट्रस्ट विस्ट डेस्टिनी भाषण दिया जिससे पुरे राष्ट्र ने अत्यंत आनंद और संतुष्टि के साथ सुना l तब से लेकर आज तक स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री पुरानी दिल्ली के लाल किले पर राष्टीय ध्वज फहराते है l और जनता को संबोधित करते है और इसके साथ ही तिरंगे को 21 तोपों के साथ सलामी भी दी जाती है l

15 अगस्त को ही क्यों आजादी का दिन चुना गया उसके पीछे भी एक अपनी ही कहानी है l १९४७ में भारत में लार्ड माउंटबेटन को गवर्नर के पद पर नियुक्त किया गया था l क्योकि इससे पहले 15 अगस्त को द्वितीय विश्व युद्ध में जपान ने ब्रिटेन के सक्षम समपर्ण किया गया था l अतः इसलिए लार्ड माउंटबेटन ने पहले से ही 15 अगस्त को भारत की आजादी का दिन निधार्रित कर रखा गया था l

15 अगस्त को हमारे स्कूलो और कॉलेजों में बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है l सभी विद्यार्थी एक –एक करके एकत्रित होकर लाइन में लगते है l और सभी विद्यार्थी मिलकर कुछ स्पीच और कार्यक्रम आयोजित करते है l हमारे कॉलेज के संस्थापक तिरंगे को फहराते है l और सभी शिक्षक और शिक्षिकाओ मिलकर तिरंगे को सलामी और राष्ट गान गाते है l और कुछ विद्यार्थी नारा पेश करते है और सभी शहीद हुए वीरो को सम्मान करते है l और फिर कुछ विद्यार्थी स्पीच देते है l और कॉलेज में सभी कार्यकर्म ख़तम होने के बाद सभी विद्यार्थी लाइन करके लाइन कॉलेज से बहार निकल कर अपने घर चले जाते है l

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!