मातृ दिवस पर निबंध l Mother’s Day

माँ शब्द इतना प्यारा है की, यह शब्द बोतले ही हमें अपने माँ की याद आ जाती है l मदर्स डे हर साल मई महीने में आता है l इस दिन माँ के लिए खास होता है l इस दिन हम सब अपने माँ के लिए कुछ खास करने की कोशिश करते है l वैसे माँ हमारे लिए हर दिन कुछ खास और अलग करने की कोशिश करती है l हमारे भारत देश में माँ को भगवान का दर्जा दिया जाता है l

हम कभी किसी मुसीबत में पड़ते है तब भगवान से पहले अपने माँ की ही याद आती है l इस दुनिया में सबसे प्यारा शब्द माँ है l यह शब्द लेते ही हमें प्यार और ऊर्जा प्राप्त होता है l हम अपने माँ के एहसानों को कभी चुका नही सकते है l

हर साल की तरह इस साल भी मातृ दिवस 9 मई 2021 को है l मतलब मई के सप्ताह के दुसरे रविवार को मदर्स डे मनाते है l

मातृ दिवस

मदर्स डे की शुरुआत अभी कुछ सालो पहले से हुई है, मदर्स डे पहले यूनानी और रोमन में हुई थी l यूनानी क्रोनिस की पत्नी रिहा वह अपने सभी देवी देवताओ को सम्मान देने के लिए इस  दिन को मनाया करती थी l यहा तक की रोमन भी बसंत में अपने इष्ट देव की पूजा किया करते थे l उससे भी पहले ईसाई क्राईस्ट की माँ मरियम को सम्मानित करने के लिए मई महीने के दुसरे रविवार के दिन को मनाने लगे l

ऐसे तो सही मायने में मदर्स डे की शुरुआत UK से शुरू हुई है, यहाँ एना जारविस अपनी माँ कि याद में वर्जिना के चर्च में शुरुआत की थी l ऐसा कहा जाता है, कि एना के ना तो कोई बच्चे थे न ही उन्होंने शादी की थी, वे बस अपनी माँ से प्यार करती थी l इसलिए अपनी माँ के मौत बाद एना ने अपने माँ के प्रति अपना प्यार और सम्मान दर्शाने के लिए मदर्स डे की शुरुआत की l

एना एक क्रिश्चियन धर्म की थी, और वे अपने माँ का शहीद स्मारक वर्जिनिया के चर्च में बनवाई थी l इसलिए क्रिश्चियन लोग इस डे को वर्जिन मेरी के नाम पर भी सेलिब्रेट करते है l और मदर्स डे सन्डे के दिन आता है इसलिए यूरोप और ब्रिटेन में इस डे को मदरिंग सन्डे के नाम से मनाया जाता है l

हम सबकी पहली गुरु हमारी माँ होती है, जो हमें सब कुछ सिखाती है l जो माँ के सिखाये रास्ते पर नही चलता है, वह जिंदगी में कभी आगे नही जा सकता है l अगर हम कुछ दिन रह कर आ रहे है, तो घर में सब कहते है आते समय मेरे लिए ये ले आना, वो ले आना सिर्फ एक माँ का प्यार नि:स्वार्थ होता है सिर्फ वाही कहती है बेटा तुम जल्दी से आना और ध्यान से आना l माँ के प्यार की बराबरी कोई नही कर सकता है l

Leave a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!