अखबार पर निबंध । समाचार पत्र । Essay on Newspaper in Hindi

आज के युवा दौर में समाचार पत्र का इस्तेमाल पूरे देश-विदेश सूचनाओं और खबरों को लोगों तक पहुंचाने के उद्देश्य से किया जाता है। इन समाचार पत्रों के माध्यम हमें हर क्षेत्र सही जानकारी देता जैसे खेल, राजनीति, विपदाओं व मौसमों का हाल, मनोरंजन आदि।

जिस गति से युग तरक्की की ओर बढ़ रहा है और विकास कर रहा है वह सब इन्ही समाचार पत्रों की वजह से हो रहा है। हर घर का आज समाचार पत्र अहम हिस्सा बन गया है।

देश भर की खबरें हम तक

कोई भी घटना चाहे कहीं भी घटित हो रही हो उसकी खबर हम तक पहुंच ही जाती है। समाचार पत्र में हर घटना का वर्णन सही प्रकार से होता है। समाचार पत्र के द्वारा हम पूरे विश्व में घटित घटनाओं के बारे में जानकारी प्राप्त कर वर्तमान समय से जुड़े पाते हैं।

समाचार पत्र आम लोगों की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए लोगों के उद्देश्यों को पूरा करता है। कोई भी अखबार काफी ही प्रभावी और हथियार की भांति कार्य करता है।

हर भाषा मे अखबार

इससे विश्व भर की सभी सूचनाओं व जानकारी को इकट्ठा कर लोगो तक पहुंचाता है। जो सूचना उस मनुष्य तक पहुंचाता है उसके मुकाबले में इसकी अहमियत बहुत कम है।

समाचार पत्र के माध्यम हम सभी घटनाओं से वाकिफ होते हैं। अखबार पूरे देश भर के लिए प्रकाशित होता है इसलिए यह हर राज्य के भाषाओं के मुताबिके कई भाषाओं में उपलब्ध होता है। जो व्यक्ति जिस भाषा से अवगत रहता है वह उस भाषा का अखबार पड़ता है।

अर्थात अपनी-अपनी भाषा कर मुताबिक अखबार चुनते हैं। वैसे समाचार पत्र किसी भी भाषा मे प्रकाशित क्यों न हुआ हो यह मात्र एक ही उद्देश्य हेतु बना है पूरे देश जगत की खबरें लोगों के घर तक पहुंचाना।

ज्ञानवर्धन खबरें

कोई भी अखबार इस उद्देश्य से प्रकाशित होता है कि इसके द्वारा लोगों तक केवल सच्ची और ज्ञानवर्धक समाचार पहुंचे। लोगों के पसंद के मुताबिक वे अखबार का चयन करते हैं जिस क्षेत्र में पढ़ने की उनकी रुचि रहेगी उसी के मुताबिक अखबारों को पढ़ते हैं।

अखबार का इतिहास

हमारे देश भारत में अखबार अंग्रेज़ो ने लाया था। अंग्रेज़ सरकार से पूर्व के समय मे अखबार उपलब्ध नही था। भारत रास्ट्र के इतिहास के मुताबिक उस देश का सबसे प्रथम वर्ष 1780 में अखबार दी बंगाल गैजेट नाम से प्राकशित हुई थी जो कोलकाता में थी। उस अखबार के संपादक जेम्स हिक्की रहे थे।

इसके पस्चात देश में अखबार के द्वारा देश-विदेश की खबरों को जानने वाले की संख्या  बढ़ गयी और अखबार की बिक्री दुगुना होने लगीं। उस प्रसिद्धि के कारण सबसे ज़्यादा अखबार आज भारत में अनेक भाषाओं में उपलब्ध हैं। अगर लोग निरन्तर रुप से समाचार पत्र पढ़ने में रुचि दिखाते हैं तो ये पूरे देश की विकास के लिए काफी फायदेमन्द हो सकता है।

अगर आज के बच्चों में पढ़ने की आदत जागृत करना है, तो अखबारों को महत्व देना होगा क्योंकि यह पढ़ने वाले के मानसिक प्रभाव में सुधार लाता है और हमें आस पास घटित हो रहे घटनाओं से अवगत भी कराता है। क्योंकि यह सब तरह कोई जानकारी देता है।

निष्कर्ष

इसी वजह से कुछ व्यक्तियों को प्रतिदिन हर  सुबह अखबार पढ़ने की आदत बनानी चाहिए। हम अपने देश के नागरिक हैं और उस आधार पर देश के अंदर व बाहर चल रही खबरों के बारे में जानकारी रखने के लिए पूर्ण रूप से जिम्मेदार हैं।

अखबार के द्वारा हर क्षेत्र में जानकारी प्राप्त कर पाते हैं जैसे राजनीति, व्यापार, खेल, जगत आदि।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!