बचत के महत्व व निवेश के लाभ पर निबंध । Essay on Importance of Savings & Investment

दोस्तों, बचत या निवेश के महत्व सबके जीवन में एक अलग ही महत्व रखता है । हम इस महत्व को अपने जीवन के भविष्य में आने वाले दिक्कतों को आसानी से सामना करने से ही समझ सकते है । इसलिए हमें थोडा– 2 करके बचत करते रहना चाहिए।

आज के महँगाई के समय हम सिर्फ बचत करके कुछ ज्यादा हासिल नहीं कर सकते है । इसलिए हमें जीवन में निवेश करना भी जरूरी है ताकि उसी वैल्यू बढे।

आजकल लोग सिर्फ पैसे की बचत से वैल्यू में कुछ ज्यादा इजाफा देखने को नहीं मिलता है । इसलिए आज के समय लोग निवेश में पैसा लगाते है ताकि उसका वैल्यू का सही दाम देखने को मिलता है।

लोग निवेश के द्वारा लम्बी अवधि के दौरान काफी धन का संचय कर सकते है । जिससे आने वाले भविष्य में उनके परिवार के काफी सुलभ तरीके से जीवन व्यतीत कर सकते है । अगर कोई दिक्कत भी आती है तो उसको भी निपटने में ज्यादा मुश्किलों का सामना नहीं करना पड़ता है।

बचत के महत्व तथा निवेश के फायदे

हम कई तरह से बचत तथा निवेश करके फायदा उठा सकते है । जो इस प्रकार है –

आय का स्रोत

यदि इस समय आपके पास कोई नौकरी या व्यवसाय है और उससे आपको रोज आमदनी आ रही है । तो उससे थोडा राशि हर महीने निकाल कर निवेश या बचत के रूप में रख सकते है।

क्योंकि आपकी बढती उम्र के साथ तथा रिटायर होने के बाद वही आपका सहारा बनेगा । जो आपके उम्र के हिसाब से आने वाली बीमारियाँ तथा आपके रोजाना के खर्च के काम में आ सकेगा।

अगर आप निवेश करते है तो बुढ़ापे में अच्छा खासा आपको रिटर्न मिलता है । जिससे आपके आय का स्रोत विकसित करने में मदद मिलता है।

सम्पति बनाना

अगर आप एक अमीर व्यक्ति बनना चाहता है तो आपको भविष्य की जरूरतों के लिए छोटी – मोटी बचत करना बहुत जरूरी है । यदि आपको बचत व निवेश करने का तरीका सही से मालूम नहीं है तो आप अमीर नहीं बन सकते है।

अगर आप निवेश में नियमित अनुशासन से कोई पैसा निवेश करते है तो आप करोड़पति भी बन सकते है । इस समय बहुत सारे एप (Application) निवेश करने के लिए उपलब्ध है । जैसे की हम म्यूच्यूअल फण्ड के नियम के अनुसार लम्बी अवधि द्वारा अपना वितीय लक्ष्य को हासिल कर सकते है।

इस समय अगर आपकी उम्र 25 साल की है तो ये निवेश की शुरुवात करने के लिए सही समय है । अगर आप सालाना एक लाख रुपये निवेश करते है तो आप 60 की उम्र तक लगभग 5 करोड़ का मालिक बन सकते है । अगर आपको 12% रिटर्निंग सालाना के अनुसार अनुमानित किया गया है।

अपने वित्तीय लक्ष्य को पूरा करना

अगर आप अपने को एक वित्तीय लक्ष्य को मनाकर निवेश करना चाहते है । तो सबसे पहले अपनी निवेश की रकम का अनुमान लगाना चाहिए।

यदि आप 10 साल के अनुसार रकम का अनुमान लगाकर निवेश करते है तो उस लक्ष्य को आप निश्चित ही प्राप्त कर सकते है । लेकिन आपको उस 10 साल के अंदर सभी महँगाई, क्रय क्षमता और जरूरतों  को ध्यान में रखकर ही निवेश की लक्ष्य को निर्धारित करना चाहिए।

इसीलिए हर लक्ष्य को चयन करने से पहले अच्छे से गुणा भाग करके समझ लेना चाहिए ताकि आने वाले समय में कोई दिक्कत न पैदा हो।

रिटायरमेंट बाद प्लानिंग

अपने रिटायरमेंट के बाद के लिए बचत और निवेश का विकल्प चुन कर रखना बहुत जरूरी है । क्योंकि आपकी जैसे – जैसे उम्र बढती जाएगी, वैसे ही बीमारियाँ का चपेट भी बढ़ता जाता है । और ज़माने के अनुसार महँगाई दर भी बढ़ जाएगी।

इस कारण हमें अपने रिटायरमेंट की के बाद का सोच कर अपने वित्तीय अनुसार हर महीने मासिक खर्च में सी निकलकर बचत और निवेश करना जरूरी है।

हम अपने उम्र के द्वारा रिटायरमेंट प्लानिंग का अच्छे से कैलकुलेशन करके ही निवेश करना चाहिए । जो हमें अच्छा रिटर्निंग दे ताकि हमारा आने वाला भविष्य सुनहरा हो सके।

आर्थिक रूप से आजाद

आर्थिक रूप से आजाद का सीधा मतलब है की आप किसी दूसरे पर आर्थिक के लिए निर्भर नहीं रह सकते है । आप अपने किये गये निवेश से आराम से अपना बाकी का जीवन काट सकते है।

इसके लिए आप अपने बच्चे या रिश्तेदार पर निर्भर नहीं रहना चाहते है । आप एक वरिष्ठ नागरिक होने के बाद भी खुद का खर्च यानी जो भी जरूरी चीजे हो उसका खर्च अपनी जेब से कर सकते है । इस सब चीजो के लिए आपके पास खुद की आज़ादी हो।

अगर आप आर्थिक रूप से आज़ादी चाहते है तो आपको लंबी अवधि वाली प्लानिंग चुनना चाहिए । जिसका अच्छा रिटर्न मार्जिन हो तभी आपके लिए भला होगा।

महँगाई के मुकाबला

यदि आप महँगाई की औसत दर को ध्यान में रखकर निवेश का प्लान चुनते है । तो वो आपके लिए आने वाली महँगाई से लड़ने में अच्छा साबित होगा । और आपके हाथ में राशि भी बची रहेगी । हाथ बिलकुल खाली नहीं होगा।

इस महँगाई दर से बचने के लिए आप लंबी अवधि का प्लान चुनकर हर महीने निवेश करते जाइये जिसका रिटर्न 14 – 15 % हो । अगर आने वाले सालो में महँगाई दर 1 – 2 % बढती है तो भी आप अच्छे से अपनी जिन्दगी गुजर सकेंगे।

इस चीज को आप बिलकुल नजर अंदाज नहीं ही कर सकते है । क्योंकि आपको ये कार्य आपको महँगाई के असर को झेल सकता है । लंबी अवधि  दौरान निवेश करने का एक ही प्लेट फार्म है जो आपको सही वैल्यू देता है वो है म्यूच्यूअल फण्ड।

कंपाउंडिंग का फायदा

अगर आप एक निवेशकर है तो इसके बारे में आपको अच्छे से पता होगा । यदि आप नए है तो म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करना कहते है तो इस चीज को मैं अपने तरीके से समझा सकता हु । क्योंकि में कोई अर्थशास्त्र नहीं हू।

बस आपको एक आसानी से समझने में मदद कर सकता हु । यदि आपने mutual के ग्रोथ निवेश किया है तो अगर आपको 10,000 पर 8% रिटर्न मिलता है तो वो पहले साल में 10,800 हो जायेगा।

इस हिसाब से पहला साल आपको रिटर्न के साथ 10,800 मिल रहा है । तो फिर वही दूसरे साल आपको 8 फीसदी रिटर्न के हिसाब से रकम 864 रुपए हो जायेगा, जो की आपका केवल व्याज दर होगा। ऐसे ही हर साल ये रकम 8 फीसदी के अनुसार जुड़ते जायेगा।

निष्कर्ष

दोस्तों हमें अपने जीवन को सुलभ बनाने के लिए हर चीज में बचत के साथ निवेश भी करना जरूरी है । क्योंकि कब के हो जाये किसी का पता नहीं है।

ये सब बचत और निवेश हमारे जीवन में बहुत सारे कार्यों को करने मदद मिलती है । ये हमारे द्वारा सोची गयी कार्यों को सफल बनाने का काम करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!